उद्देश्य उपलब्धि संरचना
 

एम पी वेयरहाउसिंग एण्ड लॉजिस्टिक्स कार्पोरेषन की स्थापना वर्ष १९५८ में Agricultural Produce ( Development And Warehousing Act 1956)  के अन्तर्गत एम पी वेयर हाउसिंग कार्पोरेषन के नाम से हूई थी जिसमें केन्द्रीय वेयर हाउस और राज्य सरकार की पचास प्रतिषत अंष पॅुजी थी । बाद में १९६२ के वेयर हाउस एक्ट के द्वारा १९५६ का एक्ट निरसित हुआ ।

 

एम पी वेयरहाउसिंग एण्ड लॉजिस्टिक्स कार्पोरेषन राज्य में कृुषि तथा उससे संबद्ध उत्पादों के वैज्ञानिक भण्डार में संलग्न एक स्वषासी संस्था है । मध्यप्रदेष भारत के मध्य में स्थिति है । रेल मार्ग से भली भाति जूुडा है । तथा १४ अन्तर्राज्यीय राज मार्ग यहॉं से गुजरते है जिससे खाघान्न तथा उपभोक्ता वस्तओं के संग्रहण हेतू । स्थिति अतिरिक्त रूप से लाभप्रद है ।

 

एम पी वेयरहाउसिंग एण्ड लॉजिस्टिक्स कार्पोरेषन अपनी छ षाखाओं और ग्यारह हजार टन की क्षमता से प्रारंभ हुआ था जो कई गुना विकसित होकर मार्च २००९की स्थिति में स्वतः की ११-५१ लाख टन की क्षमता रखता है ।यह कार्पोरेषन वेयर हाउससिंग कार्पोरेषन के राष्ट्रीय संग का संस्थापक सदस्य है ।

 

एम पी वेयरहाउसिंग एण्ड लॉजिस्टिक्स कार्पोरेषन के उददेश्य:

- केन्द्रीय वेयर हाउस की पूर्व सहमति से राज्य में नियत किए गए स्थानों पर वेयर हाउसों का निर्माण या अधिग्रहण करना ।
- राज्य में कृषि उत्पाद, बीज,खाद, उर्वरक, कृषिउपकरण और अधिसूचित वस्तुओं के संग्रहण हेतू वेयर हाउस का संचालन करना ।
- वेयर हाउस तक तथा उस के बाहर कृषि उत्पाद, बीज,खाद, उर्वरक, कृषिउपकरण और अधिसूचित वस्तुओं के परिवहन की सूविधा की व्यवस्था करना ।
- कृषि उत्पाद, बीज,खाद, उर्वरक, कृषिउपकरण और अधिसूचित वस्तुओं के क्रय -विक्रय,सग्रहण और वितरण हेतू शासन और केन्द्रीय वेयर हाउस के अभिकर्ता के रूप में कार्य करना ।
-अन्य कार्य जो अभिनिर्धारित किए जाए

 

एम पी वेयरहाउसिंग एण्ड लॉजिस्टिक्स कार्पोरेषन के मुख्य कार्य:

-समग्र संस्थागत कार्य सम्पादन और क्षमताओं के क्रमगत्र विकास हेतू प्रयास रत है,
-व्यवसाय में नियमित वृद्धि हेतू क्षमतावान ग्राहकों की निंरतर तलाष में है ।
-अपने ग्राहकों की आवश्यकताओं और मांग पर सतत्‌ दृष्टि रखता है और उनकी पूर्ति हेतू समूचित प्रंबध करता है -तथा बाजार की तीव्र अस्थिरता व व्यवसाय की अनिश्चितताओं के चलते अपनी सग्रहण क्षमता को उन्मुक्त करता है ।व्यवसाय को विविधता प्रदान करने हेतू भी नए माध्यम और मार्ग के अन्वेषण हेतू प्रयास करता है ।इस तरह अपनी सग्रहण क्षमता का अनुकुलतम उपयोग का विनिश्य कर अपनी कार्यशील लागत कों न्यूनतम स्तर पर रखता है ।
-अपने ग्राहकों की अपेक्षाओं से आगे रहने तथा गुणवत्ता युुक्त सेवा देने के लिए अतिरिक्त प्रयास करता है । फलस्वरूप संगठन की क्षमता में विश्वास व निष्ठा उत्पन्न होती है । बाजार का नियमिम सर्वेक्षण, व्यवसाय की पृवृत्ति के बारे में जानकारी व आकडे एकत्रित करना, स्पर्धा करने वाली संस्थाओं द्वारा निर्मित दबाब की जानकारी प्रौघोगिक उन्नति का अनुशरण होता ही रहता है । आकडा्रे के सावधानी पूर्व विश्लेषण के बाद ही प्रभावी निर्णय लिए जाते है ।ताकि संगठन की पोषित उन्नति और विकास सुनिशित रहेै ।
-संस्था में ऐसा कार्य -वातावरण निर्मित किया जाता है जो श्रेष्ट परिणामों की प्राप्ति हेतू अनुकुलन लाभ दायी हो ।
-संगठन चुंकि एक कानूनी निकाय है इसका कार्यक्षेत्र संबधित अधिनियम व नियमों के प्रावधानों से मर्यादित है । यह उन व्यवसायिक सिद्धान्तों पर कार्य करता है । जो लोकहित में है तथा नीतिगत के प्रश्नो पर केन्द्रीय वेयर हाउस और राज्य सरकार द्वारां दिए गए निर्देशों का पालन करता है । केन्द्रीय वेयर हाउस वैज्ञानिक भण्डारण के क्षेत्र में अग्रणी संस्था है । उसे विविध वस्तुओं जिनमें कृषि उत्पाद आर्द्रता सोखने वाली वस्तुऐ ,गर्मी वरसाती मौसम से प्राभावित होने वाली वस्तुओं,सुगन्धित,जायकेदार,और सुरभित वस्तुऐ , शीघ्र खराब होने वाली वस्तुऐ जैसे सब्जी ,फल आदि के भण्डारण में विशेषज्ञता हासिल है । केन्द्रीय वेयर हाउस द्वारा राज्य वैयर हाउस कार्पोरेशन के लोगों को प्रशिक्षत कर अपनी इस दक्षता का लाभ दिया जाता है ।
-यह संगठन ग्रामीण अर्थतंत्र को शक्तिशाली बनाने हेतू संकल्पित है तथा आल इण्डिया रूरल क्रेडित सर्वे १९५४ की निर्द्रेशन समिति की रिपोर्ट की मंशा के अनुरूप कृषक वर्ग को सग्रहण च भण्डारण की सुविधा प्राप्त करने में योगदान देती है ।

 

कार्पोरेशन की नवीन उपलब्घिया

-कार्पोरेशन में १६फरवरी २००४ को नई दिल्ली में नेशनल प्रोडक्टिविटी कौसिलं आफ इण्डिया से वेयर हाउस सेक्टर २०००-०१ का उत्पादकता पुरूस्कार सर्टिफिकेट आफ मेरिट प्राप्त किया है ।
-कार्पोरेशन में १६फरवरी २००४ को नई दिल्ली में नेशनल प्रोडक्टिविटी कौसिलं आफ इण्डिया से वेयर हाउस सेक्टर २०००-०१ का उत्पादकता पुरूस्कार सेकण्ड वेस्ट प्रोडक्टिविटी परफारमोन्स का सटिफिकेट प्राप्त किया ।
-कार्पोरेशन की इटारसी एवं देवास -दो षाखाओं ने २००१ में आई एस ओ -९००१ -२००० प्रमाण पत्र प्राप्त किया है ।

 

संरचना

 
 
 
 अधिकृत: Bit-7 Informatics